खजूर की खेती करने पर 75% तक सब्सिडी प्राप्त करने के लिए आवेदन कैसे करें

खजूर की खेती करने पर 75% तक सब्सिडी प्राप्त करने के लिए आवेदन कैसे करें:-नमस्कार किसान भाइयों, हमारे लेख में आपका स्वागत है, जहां हम रोज़ नई जानकारी लेकर आते हैं। आज मैं आपके लिए एक ऐसी महत्वपूर्ण जानकारी लेकर आया हूँ, जिसमें बताया गया है कि किसान खेती करके लाखों रुपए कमा सकते हैं और खजूर की खेती के लिए सरकार 75% की सब्सिडी प्रदान कर रही है। तो आप कैसे इस सब्सिडी के लाभ के लिए आवेदन कर सकते हैं और कौनसे डॉक्युमेंट्स की आवश्यकता है, वह सब यहाँ बताया गया है। 

खजूर की खेती करने पर सब्सिडी कैसे प्राप्त करें

राजस्थान सरकार ने किसानों को विभिन्न प्रकार की खेती के लिए प्रोत्साहित किया है और उन्हें सब्सिडी का लाभ प्रदान किया जा रहा है। इसका एक उदाहरण है खजूर की खेती, जिसमें राजस्थान सरकार ने किसानों को 75 प्रतिशत तक सब्सिडी देने का निर्णय लिया है। खजूर ड्राय फ्रूट के रूप में आने वाला है, और इसे राष्ट्रीय कृषि विकास योजना के तहत किसानों को सब्सिडी का लाभ प्रदान किया जा रहा है। वित्तीय वर्ष 2023-24 में, उद्यान विभाग द्वारा यह योजना किसानों को सब्सिडी प्रदान करने के लिए आई है, जिसमें टिश्यू कल्चर तकनीक और ऑफशूट तकनीक का भी लाभ होगा। इस योजना के तहत, 17 जिलों में खजूर की खेती के लिए सब्सिडी प्रदान की जा रही है, और किसान इस योजना का लाभ उठा सकता है अगर वह खजूर का बगीचा लगाता है। इस योजना को राष्ट्रीय कृषि विकास योजना के तहत बाड़मेर, चूरू, सिरोही, जैसलमेर, श्रीगंगानगर, जोधपुर, हनुमानगढ़, नौगार, पाली, जालौर, बीकानेर, झुंझुनूं आदि जिलों में संचालित किया जा रहा है।

खजूर की कौनसी किस्म पर मिलेगी सब्सिडी

खजूर के पौधरोपण के लिए, प्रति हेक्टेयर के लिए उन्नत किस्म के 148 मादा पौधे और 8 नर पौधे की आवश्यकता होगी। इसमें खजूर की मादा किस्मों में बरही,

 खूनेजी, मेडजूल, खलास, खदरावी, हलावी, सगई जैसी उन्नत किस्में शामिल हैं। उत्कृष्ट नर किस्मों में, अल-इन सिटी और घनामी किस्म पर ही अनुदान प्रदान किया जाएगा।

खजूर की प्रमुख उन्नत किसमे की संख्या

खजूर की पौधरोपण के लिए, 148 मादा किस्म के पौधों के साथ, 8 नर पौधों की आवश्यकता होती है। इसलिए किसानों को इसे नर और मादा दोनों को इसी अनुपात में खरीदना चाहिए, अर्थात 148 मादा पौधों के साथ 8 नर पौधे लगाने की आवश्यकता होती है।

खजूर की खेत में सब्सिडी के लिए डॉक्युमेंट

आवेदन करने वाले किसान के पास निम्नलिखित दस्तावेज होने चाहिए:

1. आधार कार्ड/जनाधार कार्ड/ भामाशाह कार्ड

2. आवेदन करने वाले किसान का फोटो

3. खेत की जमाबंदी, नक्सा ट्रेस

4. स्थाई सिंचाई स्त्रोत का प्रमाण-पत्र

5. अलग से ड्रिप संयंत्र स्थापित करने का प्रमाण-पत्र

6. मिट्‌टी-पानी की जांच रिपोर्ट

7. बैंक खाता विवरण के लिए बैंक पासबुक की कॉपी

सब्सिडी के लिए कैसे करें आवेदन

किसानों को आवश्यक दस्तावेजों के साथ आवेदन पत्र तैयार करके उन्हें कार्यालय उपनिदेशक उद्यान में पंजीयन करवाना होगा। खजूर की खेती के लिए बगीचा स्थापित करने के इच्छुक किसानों को निर्धारित प्रारूप में आवेदन करना होगा। किसानों का पंजीयन पहले आने वाले की आधारित होगा। इस योजना से संबंधित अधिक जानकारी के लिए, किसान अपने जिले के उद्यानिकी विभाग से संपर्क कर सकते हैं।

खजूर की खेती कहां होती है

खजूर की खेती भारत में कई राज्यों में होती है, जो अधिकतर गर्म और सूखे के क्षेत्रों में हैं। राजस्थान, महाराष्ट्र, गुजरात, तमिलनाडु, और अंध्र प्रदेश इसमें प्रमुख हैं। यहां कई किसान खजूर की खेती करते हैं, और सरकार ने इसे बढ़ावा देने के लिए सब्सिडी भी प्रदान की है।

सारांश:-

किसान भाई हमने आपको इस लेख के अंदर बताया है की आप खजूर की खेती के लिए कैसे साबसिडी प्राप्त कर सकते हो और क्या डॉक्युमेंट लगेंगे और आवेदन कैसे करे तो इस लेख को अपने दोस्तों के साथ शेर करे और आधिक जानकारी पाने के लिए हमारे ग्रुप मे जुड़े 

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Instagram Group Join Now

Leave a Comment

WhatsApp Group Button