Lal patta gobhi ki kheti hindi लाल पत्तागोबी की खेती हिंदी मे टिप्पस और टेक्निक

Lal patta gobhi ki kheti in hindi लाल पत्तागोबी की खेती हिंदी मे टिप्पस और टेक्निक:- नमस्कार दोस्तों आप सभीका हमारे लेख मे स्वागत है हम आपके लिए आने वाली सरकारी योजना किसान के बारेमे जानकारी लेके आते रहते आज हम आपको लाल पत्तागोबी की खेती की हिंदी मे जानकारी देंगे अभी मार्केट के अंदर लाल पत्तागोबी की डिमांड चल रही है इस के अंदर प्रोटीन,कार्बोदित पदार्थ वो सब बढ़िया मात्रा मे देखने को मिलते है जिसके कारण इस की मांग बहोत है और लाल केबेज की खेती किसान बढ़िया तरीके से करते है और उसके साथ किसान इसकी खेती करके लाखो रूपये कामाने लगे है तो हम आज ये लेख मे Lal patta gobhi ki kheti in hindi मे जानकारी लेंगे तो आप ये लेख पूरा पढ़े तो आपको सब समज मे आएगा

Lal patta gobhi ki kheti in hindi लाल पत्तागोबी की खेती हिंदी मे टिप्पस और टेक्निक

लाल पत्तागोबी की खेती के लिए मिट्टी

आम तौर पर लाल पत्तागोबी की खेती सभी प्रकार की मिट्टी के अंदर होती है आप अगर आप खेती करना चाहते होतो लाल,पिली,काली,भुखरी सभी प्रकार की जमीन मे हो सकती है लेकिन आपकी जमीन के अंदर पानी का भराव होना चाइये नहीं और आपकी जमीन की मिट्टी की ph मात्रा की बात करे तो 5 से 7.5 के बिच मे होनी चाइये ये मिट्टी Lal patta gobhi ki kheti के लिए उच्चित माना जाता है

यह भी पढ़े :- seb ki kheti सेब की खेती:मे करे इन किस्म का उपयोग मिलेगी लाखो के पैदावार

Lal patta gobhi ki kheti के लिए उन्नत किस्मे

रेड-राक किस्म

यह किस्म रेड-राक आसानी से उगाई जाती है। 250 से 300 ग्राम वजन के लाल रंग के हैड हैं।

रेड-ड्रम हैड

इस किस्म की रेड-ड्रम हैड बड़ी होती है, ठोस होती है और अंदर से गहरी लाल होती है। जो 500 ग्राम से 1.5 किलो तक का वजन रखता है।

लाल पत्तागोबी की खेती के लिए जलवायु और तापमान

किसान भाई आप अगर लाल पत्तागोबी की खेती करना चाहते है तो उसके लिए सही जलवायु और तापमान होना बेहत जरुरी है तो  लाल पत्तागोबी की खेती आप ग्रीनहाउस या फिर पोलीहाउस के अंदर कर सकते हो जिसके अंदर तापमान बेलेंस बना रहता है Lal patta gobhi ki kheti की समय की बात करे तो आप सिताम्बर महीने से नवेम्म्बर महीने तक और जनवरी से फरवरी तक इसकी बूआइ कर सकते है और बढ़िया उत्पादन ले सकते है 

http://t.me/yojanakisan

धरु के लिए नर्सरी तैयार करना

आप लाल केबेज की खेती करने के लिए आपको ऊपर बताये हुए क़िस्म का उपयोग कर सकते है आपको धरु बनाने के लिए सबसे पहले 1 एकड़ के लिए आपको 250 ग्राम बिज की मात्रा का उपयोग करना होगा उसके बाद आपको बिज की बुआई करने के लिए आपको बेड बनाने होगे जिससे आपको खापात्वार नियंत्रण मे सहेलाई रहे आप बेड के ऊपर बिज की बुआई कर सकते है

यह भी पढ़े :-makke ki kheti | हायब्रिड मक्के की खेती से किसान कमाते है लाखो रूपये

लाल पत्तागोबी की खेती के लिए खेत तैयार करना

आपको लाल पत्तागोबी की खेती के लिए खेत को सबसे पहले आपको दो बार कल्टीवेटर लगवागे जुताई करने है उसके बाद आपको प्रति हेक्टर 10 से 12 टन सड़ी हुई गोबार की खाद डालनी है उसके बाद आपको रोटावेटर 

लगवा के आपको मिट्टी को भुरभुरी बनालेनी है उसके बाद आप्कोप दोबारा से पाटा लगवाकर आपको खेत को समतल बना लेना है क्यों की पानी भरने की समस्या ना हो 

उसके बाद आपके खेत के हिसाब से आपको 60 किलोग्राम नाइट्रोजन,40 किलोग्राम फोस्फारस,40 किलोग्राम पोटाश देना होगा ये लाल पत्तागोबी मे फायदे मंद रहेता है उसके बाद आप खेत मे मेड बनाने होगे जिसमे दो मेड के बिच में 45 से 50 सेमी जगह रखनी होगी उसके बाद आपक मेड के ऊपर दो पौधे के बिच में 30 से 35 सेमी की जगह छोड़ के पत्तागोबी की बुआई कर सकते हो 

लाल पत्तागोबी की खेती मे उर्वरक एवं देखभाल

किसान मित्रों लाल पत्तागोबी की खेती एक सब्जी की खेती है जिसके अंदर आपको बहोत देख भाल करनी होती है आपको फसल की  बुआई के बाद आपको 25 से 30 दिन के अंदर आपको खपतवार नियंत्रण और उसके साथ निराई गुड़ाई करनी जरुरी है उसके बाद 20 दिन या  फिर जरुर मुजब सिंचाई जरुर्री है खेत मे मिट्टी मे नर्मी बनी रहनी चाइये जिसके कारण पौधे का विकास हो सके 

अगर आपके खेत में किट मुड़े तितलिया जैसे कीटक का प्रभाव रहेता है तो आपको उसको भगाने की दवाई का उपयोग करके स्प्रे करने चाइए अगर आप ओरगेनिक खेती करते होतो आपको गौ मूत्र निम जैसे किट नाशक का उपयोग कर सकता है

लाल पत्तागोबी की खेती मे उत्पादन और कमाई

किसान भाई अगर आप लाल केबेज की खेती करते है तो इसमें अभी उन्नत किस्मे निकली हुई है इसके साथ उत्पादन की बात करे तो जनरल प्रति हेक्टर 150 से 200 तक का उत्पादन देखने को मिल सकता है और इसमें आपकी खेत की मिट्टी के ऊपर निर्भर करता है इससे ज्यादा और कम भी हो सकता है 

अभी लालपत्तागोबी की डिमांड होटल और कैफे मे ज्यादा देखने को मिलती है तो इसका बाजार में भावभी बढ़िया मिलता है इसका बाजार भाव 2000 से 3000 प्रति क्विन्टल के हिसाब से बाजार मे देखने मिलता है और उसके साथ आपके विस्तार के मार्केट के ऊपर निर्भर करता है अगर वहा इसकी डिमांड ज्यादा रही तो जयादा भाव मिल सकता है

यह भी पढ़े :-जीवामृत क्या है? जीवामृत बनाने की विधि उसके फायदे और उपयोग

Lal patta gobi खाने का फायदा

लाल पत्तागोबी के अंदर प्रोटीन, फायबर,कार्बोदित पदार्थ,विटामिन ज्यादा होने की वजहसे ये खानेमे फायदा कारक है उसके साथ ये शारीर को स्वस्थ और तन्दुरस्थ रखता है इस लिए लाल पत्तागोबी खाने मे फायदा कारक है

सारांश

किसान भाई हमने हमारी ब्लॉग yojanakisan.com में लाल पत्तागोबी की खेती कैसे करी जाती है उसकी उन्नत किस्मे उसमे ध्यान रखने की बाब्ते वो सब आपको इस लेख मे बताया है तो आप इस लेख को ध्यानसे पढ़े और आपने दुसरे किसानो को जरुर भेजे धन्यवाद

Social Media Platforms

Social Media Platforms
WhatsAppClick Here
TelegramClick Here
InstagramClick Here
Google NewsClick Here
WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Instagram Group Join Now

Leave a Comment

WhatsApp Group Button