लहसुन की खेती का समय,लहसुन मोटा करने की दवा,Lasun ki kheti

नमस्कार दोस्तों आप साभिक हमारे लेख मे स्वागत है हम आपके लिए हररोज नई जानकारी लेके आते रहते है हम हमारे लेख के  अंदर खेती और योजना और उससे सबंधित जानकारी लेके आते रहते है हम आने वाली सभी योजना और उसमे आवेदन कैसे करे वो सब जानकारी देते है इस लेख के अंदर हमने किसान लहसुन की खेती करके कैसे पैसे कमाए लहसुन की खेती करने के लिए कौनसा किस्म चुने कौनसी खाद डाले कब पानी दे उसके आलवा सभी  जानकारी हमने इस लेख के  अंदर दी है तो  आप इस लेख को ध्यान से पढे 

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

लहसुन की खेती के लिए उपयुक्त मिट्टी

लहसुन की खेती आमतौर पर सभी जगह पर कर सकते है लेकिन बढ़िया उत्पादन के लिए इसके लिए दोमट मिट्टी हो और पानी निकासी की बढ़िया व्यवस्था हो एसी जमीन के अंदर उसके कंदो का विकास होता है आगर इसकी  जमीन की मुद्रा ph की बात करे तो 5 से 7.5 ph की जमीन उसके लिए बढ़िया है

लहसुन की खेती के लिए खाद एवं उर्वरक

खेत की तैयारी के समय आपको 200 से 230 क्विंटल प्रति हेक्टर  जितना गोबर का खाद डालना चाइए उसके अलावा 50 kg नाइट्रोजन 60 kg फॉस्फारस 100 kg पोटाश डालना चाइए उसके बाद 50 kg नाइट्रोजन बुआई के समय डालना चाइए

लहसुन की खेती के लिए खेत की तैयारी

लहसुन की खेती करने के लिय आपको सबसे पाहले खेत के अंदर तीन से चार बार जुताई कर करने के बाद आपको पाटा लगाकर जमीन को समतल बना लेना है उसके बाद खेती के लिए आपको  क्यारिया बनालेनी है आऊर सिंचाई के लिए नलिया लगा लेनी है

लहसुन की खेती के लिए उपयुक्त जलवायु

 लहसुन की खेती  के लिए ठंडी बहोत जरूरी है लेकिन लहसुन की खेती के लिए ज्यादा ठंडी और ज्यादा गर्मी दोनों ना हो वही उत्तम रहेता है ज्यादा गर्मी लहसुन की कंद निर्माण के लिए लंबे दिन रहना सही नहीं है इस लिए सर्दी के छोटे दिन कंद निर्माण के लिए सही है लहसुन की सफल खेती के लिए आपको 29.35 डिग्री सेल्सियस तापमान 10 घंटे का दिन और 75% प्रतिशद अद्रता उपयोग होती है

लहसुन की खेती के लिए उन्नत किसमे

यमुना सफेद 1 (जी 1 )

इस किस्म की प्रत्येक शल्क कंद  ठोस तथा बाहय त्वचा चांदी की रंग की होती है 150 से 160 दिनों के अंदर तैयार हो जाती है और इसकी पैदावार 150 या उससे ज्यादा क्विंटल प्रति हेक्टर निकल ती है 

इसके अलावा लहसुन की कही हाएब्रिड जाती के बीज आते है आप अपनी जमीन और अपने विस्तार के मुजब आप लहसुन की खेती कर सकते है

लहसुन की खेती का समय|लहसुन की खेती की बुआई

लहसुन की खेती के लिए आपको प्रति हेक्टर 5 क्विंटल कालिया पर्याप्त होती है इसकी रोपाई का समय अकटुम्बर से नवंबर के बीच होता हाई इसके अंदर आपको लाईन से लाईन के बीच मे 15 सेमी और पौधे से पौधे के बीच 7 से 8 सेमी की दूरी रखनी चाइए

सिंचाई और गुड़ाई

लहसुन की खेती मे कालिया की बुआई के बाद एक हल्की सिंचाई कर लेनी चाइए उसके बाद 8 से 10 दिन के अंतराल पर आपको पानी देना जरूरी है उसके बाद पतिया सुख ने लगे तब आपको  सिंचाई करना बंद कर देना चाइए 

खपतवार को नियंत्रित करने के लिए आपको निराई गुड़ाई करनी जरुऋ है आगर आपके खेत मे खपतवार ज्यादा रहेता है तो आपको अंकुरण के पहले खपतवार नियंत्रण की दवाई का छींटकाव कर लेना चाइए

लहसुन की खेती की कटाई

लहसुन की खेती मे 50% गर्दन गिरावट के बाद उसकी कटाई शुरू कर नी चाइए

जाब लहसुन की पतिया पीली पड जाए और सुकने लगे तब आपको उसकी सिंचाई बंद कर लेनी चाइए इसके बाद 3-4 दिन तक गुलजार को छाया में सुखा लेते हैं। फिर 2 से 2.25 से.मी. ठीक है बेरोजगारों को कांडों से अलग कर लेते हैं। कन्दो को साधारण भण्डारण में बन्धु ताह में रहते हैं। ध्यान रखें कि मशीन पर मसाला न हो। लहसुनिया के साथ जुड़ा हुआ भंडार भंडार है।

सारांश:-

हमने आपको इस लेख के अंदर हमने बताया की लहसुन की खेती कैसे करते है उसके लिए उन्नत किसमे कॉनसी है वो सब जानकारी दी है तो आप इस लेख को ध्यान से पढे

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Instagram Group Join Now

Leave a Comment

WhatsApp Group Button