Sarso ki kheti hindi | sarso ki kheti kaise kare |सरसों की खेति कैसे करे ?

sarso ki kheti kaise kare :सरसों की खेति कैसे करे ?:-नमस्कार अआप सभी का एक बार फिर से स्वागत है हम आपके लिए हररोज नई नइ जानकारी ले के आते रहते है  आज हम आपको सरसो की खेती के बारे मे जाने गे की सरसों की खेती कैसे होती है सरसों की खेती किसान करके बहोत अर्छा मुनाफा कमाते है उसके साथ साथ किसान दिन प्रति दिन प्रगति कर रहे है और सरसों की खेती में लागत कम आती है और मुनाफा ज्यादा आती सरसों की खेती  कहा होती है कैसे करते है कितना उत्पादन मिलाता है बाजार मे किस भाव मे बिकता है वो सब जानकारी आपको इस लेख के जरिये बताएँगे आप इस लेख को ध्यान से पढ़े

Sarso ki kheti hindi | sarso ki kheti kaise kare |सरसों की खेति कैसे करे ?

Table of Contents

Sarso ki kheti ka time (सरसों की खेतिका सही समय)

अगर आप किसान हो और सरसों की खेती करनी ही तो सरसों की खेती करने के लिए बढ़िया समय की बात करे तो वो समय आपका सितम्बर ओर अक्टूम्बर महिना है सरसों की खेती के लिए अक्टूम्बर महिना का दूसरा और तीसरा हप्ता वो सरसों की खेती के लिए उतम माना जाता है

SARSO KI KHETI KE LIYE AVSHAK JAMIN (सरसों की खेती के लिए आवशक जमीन)

सरसों की खेती के लिए समान्य जमीन भी चलती है और लेकिन सरसों का खेति का बढ़िया सा उत्पादन लेने के लिए आपको उपयोगी पदार्थ वाली मिट्टी के ऊपर ही आपको सरसों की खेती करनी चाइये और जिस जमीन पर सयुक्त कार्बन का और पोषक तत्व से भरी हुई हो एसी जमीन पर आपको सरसों की खेती करनी चाइये जिसकी मदद से आपको सही मात्र में प्रोडक्शन मिले   आपकी जमिन की मर्दक ph वेल्यु 5.5 से 7.5 होनी चाइये जो जमीन आपके लिए बहेतर है अगर इससे ज्यादा है तो आपको जिप्सम का उपयोग करना चाइये

Sarso ki kheti ke liye jalvayu and Temprechar (सरसों की खेती के लिए आवशक जलवायु और तापमान)

आपकी सरसों की खेती की बात करे की आपका तापमान आधिक जाए तो भी खुच ज्यादा  फर्क नहीं पड़ता है लेकी सरसों की खेती सामान्य एवरेज तापमान की बात करे तो जाब सरसों की फसल फुल के टाइम आती है तो उसटाइम तापमान 28 से 32 डिग्री सेल्सियांस होना चाइये  और हररोज 15 से 30 आवशक माना जाता है 

Sarso ki kheti ki unnat kisme  (सरसों की खेती के लिए उन्नत किस्मे)

आप सरसों की खेती करते हो तो उसमे आपको सबसे बढ़िया उत्पादन देने वाली किस्मे की बात करे तो पायोनियर-45s42 श्री राम-1666,progro-5222,सूर्या,सागर जेसी कही उन्नत किस्मे आती है आप आपने विस्तार और आपने वातावरण और किसी कृषी एक्सपर्ट की सलाह लेके उपयोग करे हमने यहाँ आपको जानकारी के लिए ये किस्मे आपको बताई है

Sarso ki khet me khad prabandh (सरसों की खेत में खाद प्रबन्द)

आप सरसों की खेती कर रहे है तो आपको बढ़िया उत्पादन लेने के लिए और उसमे बढ़िया सा ग्रोथ देखने के लिए आपको बेसल डोज जरुर देना चाइये बैसल डोज में आपको गोबर की खाद 2 ट्रोली,ssp खाद-100kg,Dapखाद-40kg,mop खाद-30kg ये सब खाद आप बैसल डोज में 1 एकर की हिसाब से डाले

Sarso ki kheti ke liye khet taiyaar karna  (सरसों के खेती के लिए खेत तैयार करना)

सरसों की खेतीं करने के लिए आपको सबसे पहले बेसल डाल ने के बाद आपको अपनी जमीन को कल्टीवेटर से बढ़िया सा जुताई कर लेना है और आपको उसके बाद पाटा लगाके आपको अपनी जमीन को समतल कर लेना है उसके बाद आप सरसों की बुआई कर सकते हो

Sarso ki buaai karna (सरसों की बुआई करना)

अगर आप सोइंग मशीन से आपनी खेत में सरसों की बूआइ करते हो तो आपको 1 एकड़ में 3 से 5kg बिज लगे गी अगर आप बुआई का अंतर कम या ज्यादा करते हो तो आपको बिज की मात्रा कम या फिर ज्यादा बन सकती है वो आपका बुयाई के अंतर पर आधार रखती है

sarso ki khet me khapat vaar (सरसों की खेत मे खपत वार)

सरसों की खेत में खपतवार आपके सरसों की खेती के अंदर आपको आपको 15 से 20 दिनो के बाद आपके खेत में घने पढो को निकाल लेना चाइये और आपको आधिक खपत वार का नियंत्रण करने के लिए आपको खपतनियंत्रण दवाई का आपको स्पे का उपयोग करना चाइये

Sarso ke kheti me sinchai (सरसों के खेत मे सिंचाई)

सरसों की फसल को सबसे कम पानी वाली फसल है आपको कम पानी है तोभी आप सरसों की खेती कर सकते है आपको सरसों की फसल को ऊगाने के बाद आपको 30 से 35 दिनों आपको पानी पिलाना है उसके बाद आपको सरसों की फसल को फूल आने के बाद आपको पानी देना है आपको कम से कम पानी सरसों को पानी देना है

sarso ka utpadan (सरसों का उत्पादन)

सरसों का उत्पादन की बात करे तो आपको आपनी जमीन की उत्पादन शक्ति और आपके बिज की उपज के ऊपर आधार रखती है इसका उत्पादन एवरेज बात करे तो 25 से 30 क्विंटल प्रति हेक्टर हो सकता है

sarso ki kheti kaha hoti hai  (सरसों की खेती कहा होती है)

सरसों की खेती की बात करें तो हमारे भारत देश में सरसों की खेती पंजाब हरियाणा उत्तर प्रदेश महाराष्ट्र गुजरात जैसे राज्यों के अंदर बहुत उच्च प्रमाण में होती है यह राज्य में बहुत धमाल में सरसों की खेती का होती है जिसके जरिए बहुत किसान अच्छा मुनाफा कमा सकते हैं

sarso ki kheti kaha hoti hai (सरसों की खेती कहा होती है)

सरसों की खेती की बात करें तो हमारे भारत देश में सरसों की खेती पंजाब हरियाणा महाराष्ट्र गुजरात जारखंड राजस्थान जैसे राज्यों के अंदर बहुत उच्च प्रमाण में होती है यह राज्य में बहुत धमाल में सरसों की खेती का होती है जिसके जरिए बहुत किसान अच्छा मुनाफा कमा सकते हैं

सारांश :-

हमने आपको हमारे इस लेख में पता है कि किसान सरसों की खेती करके बहुत अच्छा मुनाफा कमा सकते हैं तो आपको इस लेख में हम ने बताया है कि सरसों की खेती कैसे करते हैं इस लेख में शायद भूल हो सकती है आपको यह लेख पसंद आया हो तो अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें

FAQ:-

सरसों की बुवाई कब तक की जा सकती है ?

सरसों की बुवाई सितंबर महीने से अक्टूबर महिना के दूसरे विक तक कर सकते हैं सरसों के बीच में 5 से 6 मीटर की दूरी रख के आप सरसो की बुआई कर सकते हो

सरसों कौन से राज्य में ज्यादा होती है?

सरसों की खेती की बात करें तो हमारे भारत देश में सरसों की खेती पंजाब हरियाणा महाराष्ट्र गुजरात जारखंड राजस्थान जैसे राज्यों के अंदर बहुत उच्च प्रमाण में होती है यह राज्य में बहुत धमाल में सरसों की खेती का होती है जिसके जरिए बहुत किसान अच्छा मुनाफा कमा सकते हैं

भारत में सरसों का सबसे बड़ा उत्पादक राज्य कौन सा है?

भारत देश में राजस्थान राज्य को सरसों का राजय कहते है क्योकि वहा पर सरसों कि खेती ज्यादा होती है

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Instagram Group Join Now

Leave a Comment

WhatsApp Group Button